Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2010

गरीबो पे जंग

ये कैसा सरकार ने कदम उठा रखा है  
जंग गरीबो पे खतरनाक चला रखा है
गरीबो को हटाना है, उन्ही के  देश से
प्याज की बढती  कीमत तो एक बहाना है
__________________
दो बूँद पानी की मिल जाए , शुक्र है
हम गरीबो को और, क्या ज्यादा  सुख है
लूटने के लिए सारा देश तो दे रखा है
अब क्या हमारी आत्मा से भी बैर निभाना है
________________
लाल बत्ती के शोर में गुम है इतने
हमारी आँखों से गिरते आँसू की आवाज ,
कहाँ  सुन पाएँगे  
आतंक से जंग तो जीत नहीं पाए
अब क्या हम गरीबो के सीने पे
बन्दूक  चलायेगे ??
_____________________

16th Asian Games 2010 : Care to knw.......

Okie , everyone is busy , from AP cabinet to Delhi Parliament. Some are trying to save their skins and others, trying to show. The great indian demo- democracy at work. I was busy too, u see, life of a software engineer is not easy!!!Tea , Coffee , Barista ...Phone calls , networking & some work .... the cup always remains full. So busy i was, that i couldn't catch all games of Asaid. For all GGB(I say google generation boys) Asiad was first held in delhi !!!! then again in 1982 ...i dont knw when it will come back to India. May be when someone from Garibi Hatao Group will wake up to remove his garibi....haha...Commonwealth hangover!!!
Back to Games...As expected China did a great opening job!!! afterall they had to outdo us!!
This Asian games was unlike CWG , In CWG known sport heros dominated the turf, Asian Games in other hand was all about black sheeps. I did manage to chk some of them!!
Blast from the past  CWG 
I expected Deepika to do well in individual archery event , s…

बचपन के सेलेट

काश अपनी ज़िन्दगी
बचपन के सेलेटो की तरह होती
बन गए इन लकीरों को
मिटाने में मुश्किल नहीं होती

एक बूंद कभी पानी तो कभी
एक अक्स ही काफी होता
हथेलियों से मिट जाते हर लफ्ज
हर कहानी के लिए जगह काफी होता

हर लफ्ज के साथ
इसके सीने में उसके रचनाकार दफ़न हो जाते
कहानी भी होती छोटी
सब राज दफ़न हो जाते ||