Friday, March 16, 2007

Destiny


1 comment:

  1. Anonymous12:05 AM

    Rahul This paininting is JUST TOO GOOD

    Very true...that is the current state of human beings due to so many expectations...

    Neeta

    ReplyDelete

कुछ कहिये

एक नज़र इधर भी

कभी देख लो एक नज़र इधर भी की रौशनी का इंतज़ार इधर भी हैं मुस्कुरा के कह दो  बातें चार की कोई बेक़रार इधर भी हैं || समय  बदलता रहता हैं हर...